मित्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाऐ

तप्त ह्दय सरस स्नेह से
जो सहला दे मित्र वही है
रूखे मन को सरोबार कर
जो नहला दे मित्र वही है
प्रिय वियोग संतप्त चित्त को
जो बहला दे मित्र वही है
अश्रु बूंद की एक झलक से
जो दहला दे मित्र वही है
मित्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाऐ

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अगर कोई समस्या हो ही न, तो फिर समाधान कैसा?

कुम्हार - जाति की उत्पत्ति सम्बन्धी किवदन्ति